Warning: Creating default object from empty value in /home/wpchamp/public_html/kalyan/hn/wp-content/themes/kalyan-hn-theme/functions/admin-hooks.php on line 160
Tag Archives: असलामती

भय

असलामती का भय वह बडे से बडा भय है । शारीरिक सलामती का योग्य महत्व है । परंतु हम मन से सलामती ढूँढते हैं तब ज्यादा असलामत होते हैं । हकीकत में सलामती या असलामती बाह्य है शब्द है, द्वंद्व है यह समझ खिलेगी तो भय हंमेशा के लिए दूर होगा ।

परछाई

हम भीतर जैसे होंगे वैसी परछाई बाहर पडेगी । यह हकीकत है । भीतर से असलामती अनुभव करेंगे तो जीवन में कभी सलामती महसूस नहीं होगी । सचमुच सलामती या असलामती जैसा कुछ नहीं है, दोनों परछाई ही है ।