Tag Archives: आदत

आदत

आदत के साथ राग द्वेष करने से आदत मजबूत बन जातीहै । आदत मतलब द्वंद और द्वंद मतलब “मैं” । आदत को पोषण देने से “मैं” को पोषण मिलता है । रागद्वेष के बिना आदतों के सामने देखने से वह स्वयं झड जाती हैं ।