Tag Archives: विवेक

मजा-पीडा

मजा-पीडा आने का कारण क्या ? कारण यह कि हम कर्ता-भोक्ता बनते हैं । मजा और पीड से ऊपर उठे तो सहज आनंद का अनुभव होगा । यह सहज आनंद शाश्वत है । नींद में से जागे और विवेक जागृत करे तो सहज आनंद अनायास अनुभव कर सकेंगे ।

सत्य की यात्रा

सत्य की यात्रा हर एक को व्यक्तिगत करनी होती है । अपने खुद के सुख शांति के लिए, अपने ही लाभ और कल्याण के लिए जीवन में से और जीवन के अटपट व्यवहारों से प्रमाणिक तरीके से गुजरना है । समझकर मौन रहना यह विवेक है और विवेक से पूर्ण जीवन सहज रुप से गुजरता […]